Category: भारतीय विचारक

नैतिक विचारक महात्मा गाँधी तथा विवेकानन्द

प्रश्न: नीचे नैतिक विचारकों / दार्शनिकों के दो उद्धरण दिए गए हैं। इनमें से प्रत्येक के लिए स्पष्ट कीजिए कि, […]...

भारतीय गांवों पर डॉ अम्बेडकर के विचारों और ग्रामीण भारत को रूमानी छवि से अलंकृत करने के खतरों की संक्षिप्त व्याख्या

प्रश्न: भले ही, डॉक्टर अम्बेडकर ने ग्रामीण भारत को रूमानी छवि से अलंकृत करने के खतरे के प्रति आगाह किया […]...

दार्शनिकों के उद्धरण : स्वयं की गलतियों की संवीक्षा और उन्हें स्वीकार करने के सकारात्मक निहितार्थ

प्रश्न: नीचे नैतिक विचारकों /दार्शनिकों के दो उद्धरण दिए गए है। इनमें से प्रत्येक के लिए स्पष्ट कीजिए कि वर्तमान […]...

महात्मा गांधी तथा रवींद्रनाथ टैगोर के विचार : शिक्षा

प्रश्न: “कई अर्थों में रवींद्रनाथ टैगोर और महात्मा गांधी शिक्षा के बारे में एक जैसा सोचते थे। हालाँकि, उनमें अंतर […]...

जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता प्राप्त नहीं कर लेते, तब तक कानून द्वारा प्रदत्त स्वतंत्रता का आपके लिए कोई मायने नहीं है – डॉ. बी. आर. अम्बेडकर

प्रश्न: जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता प्राप्त नहीं कर लेते, तब तक कानून द्वारा प्रदत्त स्वतंत्रता का आपके लिए कोई […]...

स्वयं को खोजने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप स्वयं को दूसरों की सेवा में खो दें – महात्मा गांधी

प्रश्न: स्वयं को खोजने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप स्वयं को दूसरों की सेवा में खो दें […]...

स्वामी विवेकानंद के जीवन का संक्षिप्त परिचय : वर्तमान भारत में उनके विचारों की प्रासंगिकता

प्रश्न: राष्ट्रवाद पर स्वामी विवेकानंद के विचारों का विशदीकरण कीजिए। दृष्टिकोण स्वामी विवेकानंद के जीवन का संक्षिप्त परिचय दीजिए। उनका […]...

शिक्षा के महत्व और वर्तमान समय में इसकी प्रासंगिकता : रवींद्रनाथ टैगोर

प्रश्न: नीचे नैतिक विचारकों/दार्शनिकों के उद्धरण दिए गए हैं। स्पष्ट कीजिए कि वर्तमान संदर्भ में आपके लिए इनके क्या निहितार्थ […]...

राष्ट्रवाद पर विवेकानंद के विचार

प्रश्न: राष्ट्रवाद पर विवेकानंद के विचारों पर चर्चा कीजिए। क्या आप यह सोचते हैं कि वर्तमान विश्व में राष्ट्रवाद एकीकृत […]...
error: Please don\'t copy the content. If you need it for academic purpose, please drop a comment to request the article.