केरल साक्षरता दर में सबसे शीर्ष पर

7 सितंबर, 2020 को राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी सर्वेक्षण में केरल 96.2% साक्षरता के साथ देश में पहले स्थान पर तथा आंध्र प्रदेश 66.4% के साथ सबसे निचले स्थान पर है।

रिपोर्ट का शीर्षक: ‘घरेलू सामाजिक उपभोग: जुलाई 2017 से जून 2018 तक – राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण के 75वें दौर के हिस्से के रूप में भारत में शिक्षा’ (Household Social Consumption: Education in India as part of 75th round of National Sample Survey)।

महत्वपूर्ण तथ्य: सर्वेक्षण जुलाई 2017 और जून 2018 की अवधि के बीच 7 वर्ष या उससे अधिक आयु के व्यक्तियों के बीच साक्षरता का राज्यवार विवरण प्रदान करता है।

  • केरल के बाद साक्षरता में दिल्ली (88.7%) दूसरे, उत्तराखंड (87.6%) तीसरे, हिमाचल प्रदेश (86.6%) चौथे और असम (85.9%) पांचवें स्थान पर है।
  • राजस्थान 69.7% साक्षरता दर के साथ आंध्र प्रदेश के बाद दूसरा सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला राज्य था। इसके बाद बिहार (70.9%), तेलंगाना (72.8%), उत्तर प्रदेश (73%) और मध्य प्रदेश (73.7%) का स्थान है।
  • भारत में कुल साक्षरता दर 77.7% है। ग्रामीण क्षेत्रों में साक्षरता दर 73.5% जबकि शहरी क्षेत्रों में साक्षरता दर 87.7% है।
  • अखिल भारतीय स्तर पर, महिलाओं की साक्षरता दर (70.3%) की तुलना में पुरुष साक्षरता दर (84.7%) अधिक है।
  • पुरुष साक्षरता दर सभी राज्यों में महिला साक्षरता दर से अधिक है। केरल में पुरुष साक्षरता दर 97.4% और महिला साक्षरता दर 95.2% है। दिल्ली में पुरुष साक्षरता दर 93.7% है और महिला साक्षरता दर 82.4% है।
  • आंध्र प्रदेश में पुरुष साक्षरता दर 73.4% और महिला साक्षरता दर 59.4% है। राजस्थान में यह अंतर व्यापक है, वहाँ पुरुष साक्षरता दर 80.8% और महिला साक्षरता दर सिर्फ 57.6% है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *