भारत और रूस के बीच नौसैनिक अभ्यास ‘इन्द्र नेवी-2020’

4-5 सितंबर, 2020 को भारत और रूस के बीच 11वां द्विवार्षिक संयुक्त नौसैनिक अभ्यास ‘इन्द्र नेवी- 2020’ बंगाल की खाड़ी में किया गया।

उद्देश्य: अंतर-क्षमता और दोनों नौसेनाओं द्वारा अपनाई जाने वाली सर्वोत्तम प्रथाओं के बारे में आपसी समझ को बढ़ाना तथा उनमें सुधार लाना।

  • इस संयुक्त नौसैनिक अभ्यास की शुरुआत 2003 में हुई थी।
  • संयुक्त अभ्यास में भारतीय नौसेना का प्रतिनिधित्व निर्देशित मिसाइल विध्वंसक ‘रणविजय’, स्वदेशी फ्रिगेट ‘सह्याद्री और फ्लीट टैंकर ‘शक्ति’ ने किया।
  • फ्रिगेट सह्याद्री को वर्तमान में ‘एमटी न्यू डायमंड’ (MT New Diamond) को सहायता प्रदान करने के काम पर लगाया गया है। एमटी न्यू डायमंड में श्रीलंका के तट पर आग लग गई थी।
  • रूसी संघ की नौसेना का प्रति​निधित्व विध्वंसक ‘एडमिरल विनोग्रादोव’, विध्वंसक ‘एडमिरल ट्रिब्यूट्स’ और फ्लीट टैंकर ‘बोरिस बुटोमा’ द्वारा किया गया।
  • अभ्यास में जमीन और हवा में विमान रोधी मारक क्षमता का अभ्यास, गोले दागे जाने का अभ्यास, हेलीकॉप्टर संचालन, जहाजों पर तैनात कर्मियों के लिए काम करने के नए तौर तरीके इजाद करना आदि शामिल थे।
  • इससे पूर्व यह अभ्यास विशाखापत्तनम में दिसंबर 2018 में आयोजित किया गया था।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *