वैश्विक नवाचार सूचकांक 2020

विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (WIPO), कॉर्नेल यूनिवर्सिटी और इन्सीड बिजनेस स्कूल द्वारा 2 सितंबर, 2020 को संयुक्त रूप से वैश्विक नवाचार सूचकांक 2020 जारी किया गया।

महत्वपूर्ण तथ्य: इस वर्ष सूचकांक में कुल 131 देशों का विश्लेषण किया गया।

  • सूचकांक में संस्थान, मानव पूंजी और अनुसंधान, बुनियादी ढांचा, बाजार परिष्कार और व्यापार परिष्कार, ज्ञान और प्रौद्योगिकी आउटपुट और रचनात्मक आउटपुट जैसे मानदंड शामिल हैं।
  • सूचकांक में शीर्ष 10 में उच्च आय वाले देशों का प्रभुत्व है। स्विट्जरलैंड पहले स्थान पर है। 2019 में भी स्विट्जरलैंड पहले स्थान पर था।
  • स्वीडन दूसरे, अमेरिका तीसरे, यूनाइटेड किंगडम चौथे, नीदरलैंड पांचवें, डेनमार्क छठे, फिनलैंड सातवें, सिंगापुर आठवें, जर्मनी नौवें तथा कोरिया गणराज्य दसवें स्थान पर है।
  • सूचकांक में अंतिम 131वें स्थान पर यमन रहा।

भारत की स्थिति: भारत पहली बार वैश्विक नवाचार सूचकांक में शीर्ष 50 देशों के समूह में शामिल हो गया है, भारत चार पायदान ऊपर 48वें स्थान पर है। 2019 में भारत 52वें स्थान पर था।

  • भारत दुनिया में तीसरी सबसे अभिनव (innovative) निम्न मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्था बन गया है।
  • भारत आईसीटी (सूचना और संचार प्रौद्योगिकी) सेवाओं के निर्यात, सरकारी ऑनलाइन सेवाओं, विज्ञान और इंजीनियरिंग में स्नातक और आर एंड डी- संबंधित वैश्विक कंपनियों जैसे संकेतकों में शीर्ष 15 में शामिल है।
  • सूचकांक में भारत के पड़ोसी देशों में चीन 14वें, नेपाल 95वें, श्रीलंका 101वें, पाकिस्तान 107वें, बांग्लादेश 116वें स्थान पर है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *